हाँ, हम्रे कमुइयाँ भासा बोल्ठि

छविलाल कोपलिा
७ आश्विन २०७८, बिहीबार
हाँ, हम्रे कमुइयाँ भासा बोल्ठि

कविता
हाँ, हम्रे कमुइयाँ भासा बोल्ठि

हम्रे कमुइयाँ हुइ
हाँ, हम्रे कमुइयैं हुइ
काम कैना मनैयाँ, कमुइयाँ
उहेमारे हम्रे कमुइयाँ हुइ ।

हम्रे कमुइयाँ उट्ठि
कमुइयाँ बैट्ठि, कमुइयाँ खैठि
ओ कमुइयाँ सुट्ठि
काकरे कि, कमुइयाँ हमार कला हो
कमुइयाँ हमार रिटभाँट, रहनसहन हो
ओ कमुइयाँ हमार भासा हो
उहेसे हम्रे कमुइयाँ भासा बोल्ठि ।

हम्रे कमुइयाँ
हमार अपन साँस बा
उहेसे हम्रे हमारे साँस फेर्ठि
हमार अपन ढकढिउरा बा
उहेसे हमार हमारे ढकढिउरा चलठ
ओ हमार अपन जिन्गि बा
उहेसे हम्रे हमारे जिन्गि जिठि
काकरे कि,
हमार साँस कमुइयाँ भासा बोलठ
हमार ढकढिउरा कमुइयाँ ढर्कनमे चलठ
उहेसे हम्रे कमुइयाँ हुइ
हम्रे, अपन जिन्गिक कमुइयाँ हुइ
टबेमारे हम्रे कमुइया भासा बोल्ठि ।

कोइ सोंचठुइ
कमुइयँन डास हुँइट्
कमुइयँन गुलाम फेन हुँइट्
हो, हम्रे डास फेन हुइ
गुलाम फेन हुइ
मनो, हम्रे मालिकके डास नैहुइ
ना टे हुइ सासकनके डास
हम्रे टे खालि
अपन जिन्गिक डास हुइ
काकरे कि, हम्रे अपन पापि पेटके लाग
माटिमे पस्ना चुहैठि
अपन आँगसे रकट चुहैठि
हाँ, इहे पस्ना चुहैना
आँगके रकट चुहैना मनैनके भासाहे
सासक कमुइयाँ भासा कठाँ
उहेसे हम्रे कमुइयाँ भासा बोल्ठि ।

कोइकोइ जरुर कहठुइ
कमुइयँन मालिकके गुलाम हुँइट्
कमुइयँन सासकके डास हुँइट्
मनो,
छाटिम् हाँठ ढइके हेरो
हमार ढकढिउरासे मालिक जियाटटाँ
हमार साँसले सासक साँस फेरटटाँ
हमार रकट ओ पस्ना चु–चुसके
सासक छुट्टु साँरहस मट्टाइटि बटाँ
ओ हमारे सर्वस्व लुटके
कुटिल सकुनिन फाँडा लगैटि बटाँ
टब्बोपर हम्रे सगर्व
अपन अस्टिट्वमे, अपन माटिमे ठह्र्याके
निसंकोच कमुइयाँ भासा बोल्टि बटि
काकरे कि, हम्रे कमुइयाँ हुइ
हम्रे कमुइयाँ भासा बोल्ठि ।
हाँ, हमार सोनके लंका लुटके
हमार सर्वस्व, हमार जिन्गि लुटके
हमार साँस ओ ढकढिउरासे जिटिरहल
मालिक सासक
ओ सासकके चाटुकारनके आँख
हम्रिहिन गुलाम डेखे सेकठ
हम्रिहिन डास डेखे सेकठ
काकरे कि, चाटुकार ओ चम्चनके हाँठ
सडा मालिकके गुलाम करठ
सडा सासकके डास बनठ ।

हाँ, हम्रे कमुइयाँ जरुर हुइ
मनो मालिकके गुलाम नैहुइ, डास नैहुइ
काकरे कि हमार, हमारे अस्टिट्व
हमार ठन हमारे स्वयट्व बा
उहेसे हम्रे कमुइयाँ हुइ
हम्रिहिन कमुइयाँ भासा मजा लागठ
उहेक मारे हम्रे कमुइयाँ भासा बोल्ठि ।

छविलाल कोपलिा
दाङ

हाँ, हम्रे कमुइयाँ भासा बोल्ठि

छविलाल कोपलिा

21 Shares
Tweet
Share21
Share
Pin